बिलासपुर में 120 रुपए के लिए हत्या

दो दोस्तों ने एक साथ शराब पी फिर पैसों के लिए लड़े, सीपत थाने की धनिया गांव की घटना, तीन दिन पहले गांव के संतराम केवट को उसके ही दोस्त इडनपाल के टंडन ने पेट में मारा था चाकू पेट की अंतड़ी आ गई थी बाहर

बिलासपुर । छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में 3 दिन पहले एक मामूली से बात पर एक दोस्त ने दूसरे दोस्त की हत्या कर दी। शराब पीने के बाद महज 120 रुपए के लिए दोनों के बीच विवाद हुआ और वह लड़ पड़े इसके बाद एक दोस्त ने दूसरे दोस्त के पेट में चाकू घोंप दिया। जिससे उसकी पेट की आंत बाहर आ गई। तीन दिन बाद उसकी मृत्यु हो गई है मामले में पुलिस में धारा 302 के तहत जुर्म दर्ज कर लिया।

घटना सीपत थाने के धनिया गांव की है जहां संतराम केवट नाम का 32वर्षीय संतराम केवट अपने दोस्त ईडनपाल टंडन के साथ शराब पीने गांव में ही बैठा। दोनों ने खूब शराब पी जिसके बाद वह आखरी में 120 रुपए के लिए झगड़ने लगे। रात ज्यादा हो गई थी इसके कारण दोनों के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि ईडन पाल ने संतराम केवट के पेट में चाकू मार दिया जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया उसे सिम्स में इलाज के लिए लाया गया था।

 डॉक्टर ने बढ़ाने की कोशिश की लेकिन मौत

सिम्स के डॉक्टरों ने संतराम को बढ़ाने की खूब कोशिश की लेकिन उसके पेट में चाकू गहरा घुस चुका था और इसके कारण ही तीन दिन बाद उसे डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। नशे के कारण जिस तरह बिलासपुर में अपराधी घटनाएं हो रही है वह भी सोचने का विषय बन गया है। पुलिस और प्रशासन दावा कर रही है वे शराब के खिलाफ काम कर रहे हैं लेकिन ऐसी घटनाएं उनकी कार्यप्रणाली पर सवाल उठाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *